महाबलेश्वर में Dinesh Singh Merta का Food Studio रेस्टोरेंट, जहां शहीद आश्रितों से नहीं पैसे नहीं लिया जाता

0
21
महाबलेश्वर में Dinesh Singh Merta का फ्री जोन स्टूडियो रेस्टोरेंट, जहां शहीद आश्रितों से नहीं पैसे नहीं लिया जाता
महाबलेश्वर में Dinesh Singh Merta का फ्री जोन स्टूडियो रेस्टोरेंट, जहां शहीद आश्रितों से नहीं पैसे नहीं लिया जाता

Dinesh Singh Merta – अपनी मातृभूमि की खातिर अगर कभी मौका मिले तो अपनी जान न्योछावर करने में कभी नहीं चुकते हमारे देश के जवान, हमारे देश के जवान भूखे-प्यासे रहकर भी सरहदों की रक्षा करते हैं, दुश्मनों की गोलियों का सामना करते हैं। देश में जवानों के जज्बों को सलाम करने वालों की भी कमी नहीं होती है।

कुछ लोग सैनिक परिवार वालो के लिए समय समय पर कैंप लगा कर, तो कुछ लोग आर्मी वेलफेयर अकाउंट में सहयोग करके भी अपनी देश के प्रति कर्तव्यों की पूर्ति करते हैI कुछ लोग सार्जनिक रूप से तो कुछ लोग गुमनाम रहकर किसी ना किसी तरह से देश के लिए और देश के सैनिको के हित के लिए प्रयास करते रहते है

महाबलेश्वर में Dinesh Singh Merta का फ्री जोन स्टूडियो रेस्टोरेंट, जहां शहीद आश्रितों से नहीं पैसे नहीं लिया जाता
महाबलेश्वर में Dinesh Singh Merta का फ्री जोन स्टूडियो रेस्टोरेंट, जहां शहीद आश्रितों से नहीं पैसे नहीं लिया जाता

ऐसे ही एक शख्श है दिनेश सिंह मेड़ता
उदयपुर निवासी दिनेश सिंह मेड़ता एक ऐसे शख्स हैं, जो खुद सेना में जाना चाहते थे, मगर उनका सपना पूरा नहीं हो पाया। लेकिन देश सेवा के अपने इस सपने को पूरा करने के लिए दिनेश सिंह मेड़ता ने एक ऐसा तरीका निकाला है जिससे वो ना केवल अपना सपना पूरा कर पा रहे है बल्कि देश के सनिको एवं उनके परिवार की भी दुआए ले रहे है

महाबेश्वर , महाराष्ट्र में दिनेश एक रेस्तरॉ चलाते हैं, जिसमें शहीद जवानों और उनके परिवार के सदस्यों को रियायती भोजन मुहैया कराया जाता है

कई बार समाज सेवा के नाम पर कुछ लोग अपने नाम का झूठा प्रचार भी करते हैं? दिनेश सिंह मेड़ता ने कहा, “महबलेश्वर में रेस्टोरेंट हैं। अधिकारियों को जब इस योजना के बारे में पता चला तो वे पुष्टि करने के लिए आए कि वाकई जवानों को ऐसी कोई सुविधा दी जा रही है या नहीं और कहीं देश सेवा का केवल प्रचार तो नहीं किया जा रहा। लेकिन वे पूरी तरह संतुष्ट होकर गए।”

दिनेश सिंह मेड़ता ने कहा कि वह आगे भी सैनिकों के लिए इस दिशा में और कुछ कर सके तो जरूर करेंगे