Breaking News
Home / Latest news / Har Ghar Tiranga कैसे डाउनलोड करें सर्टिफिकेट | Latest News 2022

Har Ghar Tiranga कैसे डाउनलोड करें सर्टिफिकेट | Latest News 2022

Har Ghar Tiranga कैसे डाउनलोड करें सर्टिफिकेट | Latest News 2022

Tiranga
Tiranga

स्वतंत्रता दिवस मनाया जा चूका हैं और लोगों ने देश की आजादी की 75वीं वर्षगांठ के जश्न भी बड़ी  उत्सव के साथ मनाया हैं। क्योंकि सरकार ने भारत की आजादी के 75 साल पूरे होने और जश्न मनाने के लिए आजादी का अमृत महोत्सव के हिस्से के रूप में हर घर तिरंगा अभियान जारी करवाया था।

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने लोगों से फेसबुक, ट्विटर, व्हाट्सएप जैसे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर भारत के राष्ट्रीय ध्वज को अपने प्रोफाइल या डिस्प्ले फोटो के रूप में रखने का भी आग्रह किया है।

उन्होंने लोगों को 13 से 15 अगस्त तक अपने घरों में झंडा फहराने के लिए भी प्रोत्साहित किया।

जिन लोगों ने भाग लिया है, वे हर घर तिरंगा प्रमाणपत्र ऑनलाइन डाउनलोड कर पाएंगे तो आई ये जानते हैं।

ऐसे डाउनलोड करें सर्टिफिकेट

Tiranga
Tiranga

आप को बताया जा रहा हैं कि 13-5 अगस्त के बीच हर घर तिरंगा अभियान के तहत अपने घरों पर तिरंगा फहराने के लिए देशवासियों को सर्टिफिकेट मिलेगा।

इसके लिए सरकार की ओर से एक वेबसाइट तैयार की गई है।

यूजर्स हर घर तिरंगा की वेबसाइट पर जाकर सर्टिफिकेट को डाउनलोड कर सकते हैं। Tiranga

ये है आसान प्रोसेस

Tiranga
Tiranga
  • हर घर तिरंगा का आधिकारिक वेबसाइट पर जाना पड़ेगा।
  • वेबसाइट खुलने के बाद PIN A FLAG ऑप्शन आप को चुनना हैं।
  • अपनी लोकेशन का एक्सेस करना होगा।
  • PIN A FLAG ऑप्शन चुनने के बाद एक पेज खुलेगा।
  • नाम और मोबाइल नंबर जैसी जानकारियां साझा करें।
  • प्रोफाइल पिक्चर सेक्शन में जाकर फोटो अपलोड करना होगा।
  • फोटो अपलोड करने के बाद नेक्स्ट बटन पर क्लिक करें।
  • इसके बाद मैप खुलेगा, मैप पर सही जगह चुननी होगी।
  • तिरंगे की जानकारी सिस्टम पर नोट होते ही आपका सर्टिफिकेट स्क्रीन पर दिखेगा।
  • अब इसे डाउनलोड कर सोशल मीडिया पर शेयर कर सकते हैं।

 

Read Also – हर घर तिरंगा’ अभियान के कार्यक्रम को गृह मंत्री अमित शाह (Home Minister Amit Shah) ने मंजूरी दी थी. हर घर तिरंगा पोर्टल पर एक ब्लॉग पोस्ट में कहा गया है कि यह अभियान भारतीयों को अपने घर पर राष्ट्रीय ध्वज फहराने के लिए प्रेरित करता है.

Read Also – भाद्रपद मास,अष्ठमी तिथि,रात के 12 बजे और रोहिणी नक्षण। उस समय कंस के सभी प्रहरी गहरी निद्रा में सो गए। धरती पर केवल वसुदेव और देवकी ही जाग रहे थे

About Hari Soni