Pradeep Patwardhan दिल का दौरा पड़ने से मराठी अभिनेता का निधन | Latest News 2022

0
13
Pradeep
Pradeep

दिल का दौरा पड़ने से मराठी अभिनेता Pradeep Patwardhan का निधन

Pradeep
Pradeep

1 जनवरी 1970 को जन्मे प्रदीप पटवर्धन को बचपन से ही अभिनय का शौक रहा था। प्रदीप पटवर्धन को मराठी सिनेमा में एक हास्य अभिनेता के रूप में जाना गया था। उनके निधन की खबर से इंडस्ट्री में शोक की लहर दौड़ गई है।

मराठी इंडस्ट्री से एक दुखद भरी खबर सामने आ रही है। मशहूर मराठी अभिनेता प्रदीप पटवर्धन का दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया है। उन्होंने 52 साल की उम्र में अपने गिरगांव स्थित घर में अंतिम सांस ली।

अभिनेता ने मराठी नाटकों, फिल्मों और धारावाहिकों में काम कर अपनी एक अलग पहचान बनाई थी। प्रदीप पटवर्धन को मराठी सिनेमा में एक हास्य अभिनेता के रूप में जाना जाता था।

बैंक में करते थे नौकरी

1 जनवरी 1970 को जन्मे प्रदीप पटवर्धन को बचपन से ही अभिनय करने का सोक था । उन्होंने मराठी थिएटर में भी काफी योगदान किया था। कॉलेज के दिनों में वन एक्ट प्ले से करियर की शुरुआत करने के बाद उन्हें प्रोफेशनल थिएटर में काम करने का मौका भी मिला।

इसके बाद उनका फिल्मी सफर शुरू हो गया। शुरुआती दिनों में वह बैंक में नौकरी करते थे और छुट्टी लेकर अपने नाटक के लिए जाते थे।

दर्शकों के दिल में बनाई खास जगह

Pradeep
Pradeep

‘मोरूची मावाशी’ नाटक में उनके किरदार को लोगों ने काफी पसंद किया था। इस रोल ने सबके मन में जगह बना ली थी नवरा माजा नवसाचा’, ‘लवू का लाठ’ जैसे कई फिल्मों में भी उन्होंने यादगार रोल निभाकर दर्शकों के दिलों में एक खास जगह बनाई थी।

2019 में प्रदीप पटवर्धन को अखिल भारतीय नाट्य परिषद पुरस्कार से भी सम्मानित किया गया था।

पिछले कुछ समय से थे बीमार

Pradeep
Pradeep

अभिनेता प्रदीप पटवर्धन पिछले कुछ समय से अपनी तबीयत के चलते फिल्मों और थिएटर से दूरी बनाए हुए थे। वैसे तो प्रदीप की पहचान एक हास्य अभिनेता के रूप में थी, लेकिन उन्होंने कुछ गंभीर किरदार भी निभाए हैं।

उन्होंने विलेन का किरदार भी निभाया है, लेकिन दर्शकों को वह कॉमेडी करते ही ज्यादा पसंद आए। ऐसे में वह हास्य किरदार ही ज्यादा निभाते थे।

 

ये भी ज़रूर पढ़िए – 

 

Read Also – इन दिनों रह कुछ दिन में इंडस्ट्री से बुरी खबर सामने आ रही हैं। हाल ही में सिंगर केके की कार्डियक अरेस्ट से मौत हुई, उसके बाद ‘भाबी जी घर पर हैं’

Read Also –इस वर्ष भी विश्व के स्वदेशी लोगों के अंतर्राष्ट्रीय दिवस मानाया जायेगा 2022 की थीम ‘पारंपरिक ज्ञान के संरक्षण और प्रसारण में स्वदेशी महिलाओं की भूमिका’ निभाता है। 9 अगस्त को, विश्व के स्वदेशी लोगों का अंतर्राष्ट्रीय दिवस हर साल चिह्नित किया जाता है। यह विशेष दिन दुनिया भर में स्वदेशी आबादी के अधिकारों की रक्षा के लिए मनाया जाता है।